हाथरस कांड: PFI के 4 कार्यकर्ता गिरफ्तार, हाथरस के बहाने UP में दंगे फैलाने की साजिश का आरोप

0
34
pfi

हाथरस गैंगरेप मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने साजिश का दावा किया था. इस दावे के बाद एजेंसियां चौकन्नी हो गई है और हाथरस आने-जाने वालों पर नजर रखी जा रही है. हाथरस मामले के बहाने उत्तर प्रदेश में जातीय और सांप्रदायिक हिंसा करने की साजिश में जुटे चार लोगों को मथुरा पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जिनका प्रतिबंधित संगठन संबंध पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से बताया जा रहा है. मथुरा की पुलिस ने बीती रात यमुना एक्सप्रेस-वे के टोल पर दिल्ली से हाथरस जा रहे कार सवार चार संदिग्ध लोगों को पकड़ा है. ये आरोपित पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) एवं उसके सह संगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई) से जुड़े है. दरअसल, मथुरा में गाड़ियों की चेकिंग की जा रही थी. इसी दौरान ये चारों दिल्ली नंबर प्लेट की गाड़ी से चेकिंग प्वाइंट पर पहुंचे. इनमें एक मल्लापुरम का रहने वाला है, जबकि बाकी मुजफ्फरनगर, बहराईच और रामपुर के रहने वाले हैं. पुलिस ने इन चारों के पास से मोबाइल, लैपटॉप और संदिग्ध साहित्य बरामद किया है.

ये भी पढ़ें:- दलित नेता की हत्या के मामले में तेजस्वी, तेजप्रताप समेत 6 के खिलाफ मामला दर्ज, जेडीयू ने की सीबीआई जांच की मांग

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया, “पुलिस को ऐसी सूचना मिली थी कि कुछ संदिग्ध व्यक्ति दिल्ली से हाथरस की तरफ जा रहे हैं, जिसके बाद सोमवार को मथुरा के मांट टोल प्लाजा पर संदिग्ध वाहनों की चेकिंग की गई.
इस दौरान एक स्विफ्ट डिजायर गाड़ी (डीएल 01 जेडसी 1203) को रोका गया और गाड़ी में सवार चार युवकों से पूछताछ की गई तो उनका संबंध पीएफआई और उनके सहयोगी संगठन सीएफआई से होने की जानकारी मिली.”
हाथरस कांड में दलित लड़की के लिए इंसाफ की जंग के बीच क्या उत्तर प्रदेश का माहौल बिगाड़ने की साजिश हो रही थी? ये सवाल उठा है यूपी सरकार के उस दावे से, जिसमें खुलासा हुआ है कि शहर दर शहर हिंसा की आग भड़काने का ब्लूप्रिंट तैयार किया गया था. खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी को दंगों की आग में झुलसाने की साजिश का दावा किया है. ये चारों ही पीएफआई एवं सीएफआई के मास्टर मांइड शातिर सदस्य है. चारों के कब्जे से मोबाइल, लैपटॉप एवं शांति व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाला संदिग्ध साहित्य प्राप्त हुआ. ये लोग हाथरस के बहाने उत्तर प्रदेश को जलाने की साज़िश में शामिल है या नहीं अब इसकी जांच की जा रही है.

ये भी पढ़ें:- प्रयागराज में BA छात्रा से बंदूक की नोक पर किया था गैंगरेप, आरोपी बीजेपी नेता गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here