किसान बिल पर राज्यसभा में हंगामा करने वाले 8 सांसदों पर कार्रवाई, पूरे सत्र के लिए किए गए निलंबित

0
137
rajya sabha

राज्यसभा में रविवार को कृषि विधेयक पर चर्चा के दौरान हंगामा करने वाले आठ सांसदों पर सभापति वेंकैया नायडू ने बड़ी कार्रवाई की है. सरकार की ओर से विपक्षी सांसदों को निलंबित करने के प्रस्ताव पेश किया गया था. किसान बिल को लेकर राज्यसभा में रविवार को हुए हंगामे के चलते तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ’ब्रायन सहित आठ विपक्षी सांसद निलंबित कर दिया गया है. जो सांसद निलंबित हुए हैं उनमें तृणमूल कांग्रेस (TMC) सांसद डेरेक ओ ब्रायन, आम आदमी पार्टी (AAP) के संजय सिंह, कांग्रेस के राजीव साटव, रिपुन बोरा तथा नाजिर हुसैन, केके रागेश, डोला सेन और एक करीम का नाम शामिल है. राज्य सभा के सभापति वेंकैया नायडू ने सांसदों के बर्ताव पर नाराजगी जताई. नायडू ने उपसभापति हरिवंश के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया. नायडू ने कहा कि प्रस्ताव उचित प्रारूप में नहीं था.

ये भी पढ़ें:- मोदी सरकार ने भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में कृषि बिल पास कराया

राज्यसभा के सभापति ने कहा कि मुझे उससे दुख हुआ, जो कल यहां हुआ. यह राज्यसभा के लिए बुरा दिन था. कुछ सदस्यों ने उपसभापति पर कागज उछाले. उपसभापति के मुताबिक, उनके लिए गलत शब्द भी निकाले गए. नायडू ने कहा कि सदन में माइक को तोड़ना अस्वीकार्य और निंदनीय है. अमर्यादित व्यवहार करने वाले 8 सांसदों को पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया है. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी कल शाम विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा था कि राज्यसभा के उपसभापति के प्रति सदस्यों के व्यवहार न सिर्फ ‘खराब’ थे बल्कि ‘शर्मनाक’ भी थे. राजनाथ सिंह ने बिना किसी का नाम लिए कहा, “जहां तक मैं जानता हूं, ऐसा राज्यसभा और लोकसभा के इतिहास में कभी नहीं हुआ. राज्यसभा में होने वाली यह बहुत बड़ी घटना है. अफवाहों के आधार पर किसानों को गुमराह करने की कोशिश की गई है. जो हुआ वह सदन की गरिमा के खिलाफ था.”

ये भी पढ़ें:- कृषि संबंधी विधेयक राज्यसभा में पास होने पर PM मोदी ने अन्नदाताओं को दी बधाई, कहा- करोड़ों किसान होंगे सशक्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here