ये है भगवान शिव का अनोखा महादेव मंदिर, जहां दिन में तीन बार रंग बदलता है शिवलिंग

0
21
achaleshwar mahadev

भगवान शिव (Lord Shiva) का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है. भोलेशंकर को देवों के देव महादेव (Mahadev)भी कहते हैं. भगवान शिव (Lord Shiva) के हजारों मंदिर हैं देश में जो चमत्कारों से भरे हुए हैं. भगवान शिव (Lord Shiva) के चमत्कारों का उल्लेख पौराणिक कथाओं में भी मिलता है. दुनिया में कई अजीबोगरीब स्थान है जिसके पीछे का रहस्य अब तक उलझा है. जिनका आजतक रहस्य नहीं सुलझ पाया है. ऐसा ही एक मंदिर है अचलेश्वर महादेव मंदिर (Achleshwar Mahadev Mandir) में जो वैज्ञानिकों के लिए चुनौती बना हुआ है. राजस्थान (Rajasthan) के धौलपुर (Shivling in Dholpur) में स्थित अचलेश्वर महादेव (Achleshwar Mahadev Mandir) के मंदिर में भगवान शिव का अद्भुत चमत्कार देखा जा सकता है. इस मंदिर का शिवलिंग दिन में 3 बार रंग बदलता (Changes colour Thrice A Day) है. यह शिवलिंग देखने में बिल्‍कुल आम है, लेकिन इसके बदलते हुए खूबसूरत रंग सभी को हैरान कर देते हैं.

ये भी पढ़ें:- Twitter पर छाए CM योगी आदित्यनाथ, ट्रेंड करता रहा ‘योगीजी नंबर 01’

कहते हैं कि इस रहस्यमयी शिवलिंग के दर्शन करने मात्र से इंसान की सभी इच्‍छाएं पूरी होती है और जीवन की सभी तरह की तकलीफ दूर हो जाती हैं. इस अद्भुत अचलेश्वर महादेव मंदिर में लोगों की काफी श्रद्धा है. स्थानीय निवासी बताते हैं कि अब तक इस शिवलिंग की जड़ तक कोई नहीं पहुंच पाया है. शिवलिंग दिन में 3 बार अपना रंग (Changes colour Thrice A Day) बदलता है. इसके पीछे के रहस्य को सुलझाना वैज्ञानिकों के लिए चुनौती बन गई है. बता दें कि इस शिवलिंग का रंग सुबह के समय लाल होता है. दोपहर के समय इसका रंग केसरिया में बदल जाता है. रात होते होते ही ये श्‍याम रंग का हो जाता है. ये शिवलिंग धरती में बेहद गहराई से जुड़ा हुआ है. इसका पता लगाने के लिए एक बार इसकी खुदाई का काम भी किया गया. कई दिनों तक खुदाई के बाद भी लोग इसके अंतिम छोर तक नहीं पहुंच पाए और इसके बाद खुदाई का काम रोक दिया गया. सबसे बड़ी बात ये है कि इसका अंतिम छोर कहा है इसके बारे में आजतक कोई नहीं जान पाया.

ये भी पढ़ें:- कड़ाके की ठंड और बारिश के बावजूद किसानों के हौसले बुलंद, राशन भीगा, ठंड में कांपे पर विरोध नहीं रुका

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here