कृषि कानूनों पर अमेरिका ने किया भारत का समर्थन, कहा- इससे दुनिया में भारतीय बाजार का प्रभाव बढ़ेगा

0
126
us on farm bill

भारत में कृषि कानूनों पर सड़क से लेकर संसद तक संग्राम जारी है. भारत में चल रहे कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलनों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अमेरिकी विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा अमेरिका भारत के नए कृषि कानूनों का स्वागत किया है. अमेरिका ने कहा है कि वह ऐसे कदम का स्वागत करता है जिससे दुनिया में भारतीय बाजार का प्रभाव बढ़े. किसान संगठन भले ही मोदी सरकार को घेर रहे हों, मगर अमेरिका ने इसका समर्थन किया है. विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने संकेत दिया कि नई बाइडन सरकार कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए भारत सरकार के कदम का समर्थन करती है, जो किसानों के लिए निजी निवेश और अधिक बाजार पहुंच को आकर्षित करती है. अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि सामान्य तौर पर अमेरिका ऐसे कदमों का स्वागत करता है जो भारत के बाजारों की दक्षता में सुधार करेंगे और निजी क्षेत्र के निवेश को आकर्षित करेंगे.

ये भी पढ़ें:- किसान आंदोलन के समर्थन में Rihanna ने किया ट्वीट, सोशल मीडिया पर मच गई खलबली

अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा कि वाशिंगटन यह मानता है कि शांतिपूर्ण विरोध किसी भी संपन्न लोकतंत्र की पहचान है. साथ ही यह भी कहा कि पार्टियों के बीच मतभेदों को बातचीत के माध्यम से हल किया जाना चाहिए. यह स्वीकार करते हुए कि कृषि कानूनों पर शांतिपूर्ण विरोध एक संपन्न लोकतंत्र की पहचान है, अमेरिका ने बुधवार को कहा कि वह ऐसे कदमों का स्वागत करता है जो भारत के बाजारों की दक्षता में सुधार करेंगे और निजी क्षेत्र के अधिक निवेश को आकर्षित करेंगे. इससे पहले, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भारत के नए कृषि कानूनों को कृषि क्षेत्र में सुधारों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम बताया था. आईएमएफ की कम्युनिकेशन निदेशक गेरी राइस ने कहा था, हम मानते हैं कि भारत में कृषि सुधारों के लिए खेत के बिल एक महत्वपूर्ण कदम का प्रतिनिधित्व करने की क्षमता रखते हैं.

ये भी पढ़ें:- बिहार सरकार का तुगलकी फरमान: विरोध प्रदर्शन या सड़क जाम में शामिल लोगों को नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here