Coronavirus संकट : सरकार ने corona संकट से निपटने के लिए ऑटो सेक्टर से वेंटिलेटर बनाने को कहा है

0
44
Coronavirus

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से निपटने के लिए सरकार ने एक बड़ा फैसला किआ है। केंद्र सरकार ने ऑटोमोबाइल निर्माताओं को बढ़ते COVID-19 मामलों के मद्देनजर देश में वेंटिलेटर मशीनों की क्षमता बढ़ाने के लिए वेंटिलेटरो का उत्पादन करने के लिए कहा है। Corona संकट से निपटने के लिए ऑटो सेक्टर ने वेंटिलेटर बनाने को हाथ आगे बढ़ाया है और सरकार के साथ इस मामले पर बैठक भी की है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि करने हुए जानकारी दी है कि मारुति, महिंद्रा एंड महिंद्रा और टाटा मोटर्स ने वेंटिलेटर बनाने के लिए मंत्रालय के साथ मुलाकात की है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश के विभिन्न अस्पतालों में COVID-19 रोगियों के लिए 14,000 से अधिक मौजूदा वेंटिलेटर लगाए गए हैं जबकि स्टॉक में 11.95 लाख N-95 मास्क हैं।

Coronavirus

Coronavirus बीमारी से लड़ना एक आसान काम नहीं है और केंद्र सरकार आवश्यक उपकरणों को जल्द से जल्द उपलब्ध कराने में सभी संभव संसाधनों का उपयोग कर रही है। Coronavirus को लेकर देश भर में चिकित्सा सेवाएं तेज कर दी गई है। जगह जगह अस्पतालों में इसके लिए आइसोलेश वार्ड बनाए गए हैं। इस बीच अस्पतालों में जरूरी उपकरणों की कमी देखने को मिल रही है। दरअसल भारत में मात्र 40 हजार वेटिंलेटर है, जिन पर गंभीर मरीजों का उपचार किया जाता है। देश में वेंटिलेटर की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है।
Corona की वजह से लॉकडाउन में ऑटोमोबाइल निर्माताओं को अपने संबंधित संयंत्रों में उत्पादन बंद करना पड़ा है, वे अब स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा वेंटिलेटर का निर्माण करने और उन्हें उपयोग के लिए जल्द से जल्द उपलब्ध कराने के लिए तैयार किए गए हैं। मंत्रालय का कहना है कि कई वाहन निर्माता पहले ही इस दिशा में काम कर रहे हैं और जल्द ही आपूर्ति शुरू होने की उम्मीद है।

Coronavirus

मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा, स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) को पहले से ही स्थानीय निर्माताओं के साथ मिलकर अगले दो महीनों में 30,000 वेंटिलेटर का निर्माण करने के लिए कहा है। अगवा हेल्थकेयर, नोएडा को भी एक महीने के भीतर 10,000 वेंटिलेटर बनाने का आदेश दिया गया है। मंत्रालय ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि उनकी आपूर्ति अप्रैल के दूसरे सप्ताह में शुरू होने की उम्मीद है। इसके अलावा दो घरेलू निर्माता प्रतिदिन 50,000 एन -95 मास्क का उत्पादन कर रहे हैं। मंत्रालय ने ट्वीट किया, यह अगले सप्ताह के भीतर प्रति दिन 1 लाख मास्क का उत्पादन करने की उम्मीद है। मंत्रालय ने आगे बताया की कि रेड क्रॉस द्वारा दान किए गए 10,000 व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण प्राप्त हुए हैं जो कि सोमवार से वितरित किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here