Coronavirus का असर : Corona की वजह से, ‘अर्श से फर्श’ पर ये 5 सेक्टर्स

0
38

Coronavirus के संक्रम से पूरी दुनिया मानो थम सी गयी है। Corona महामारि से दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं को करीब 37 लाख करोड़ की चपत लगती है। Coronavirus से लोगो की जान को तो खतरा है ही साथ ही ये महामारियां कारोबार और नौकरियों को भी बड़ा नुकसान पंहुचा रहा है। Corona महामारी की वजह से पूरी दुनिया में जनजीवन प्रभावित हुआ है और सारा काम-धंधा ठप परे है जिससे छोटे से लेकर बड़े उद्योग तक प्रभावित है।ऐसे संकट के समय में खासकर 5 ऐसे सेक्टर्स हैं, जो कोरोना की वजह से अर्श से फर्श पर पहुंच गए हैं।

Coronavirus effect

1. टूरिज्म:
Coronavirus के संक्रम की वजह से पिछले करीब दो महीने से टूरिज्म सेक्टर में हाहाकार मचा है। जाहिर है इस महामारी में पूरी दुनिया में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है।ऐसे में टूरिज्म पर ब्रेक से होटल इंडस्ट्री पर भी ताला लटक गया है। भारत में Corona के मामले सामने आते ही सरकार ने सभी विदेशी पर्यटकों के वीजा को 15 अप्रैल तक के लिए रद्द कर दिया है और साथ ही सभी देसी और विदेशी उड़ानो पर रोक लगा दी है।टूरिज्म सेक्टर के ठप पड़ने से होटल इंडस्ट्री भी संकट में है। टूरिज्म सेक्टर पे होटल इंडस्ट्री काफी निर्भर करती है क्युकी होटल इंडस्ट्री का 40 परसेंट कारोबार यही से आता है। इन दोनों सेक्टर में कारोबार के ठप होने से नौकरियों के जाने की आशंका भी तेज हो गई है।
भारत में करीब हर महीने 10 लाख विदेशी पर्यटक आते हैं जिनमे से लगभग लगभग सिर्फ अक्टूबर से मार्च के दरम्यान आते हैं। भारत को विदेशी पर्यटकों के आने से हर साल करीब 2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की आमदनी होती है।

Coronavirus effect

2. एविएशन सेक्टर:

Coronavirus के संक्रम को रोकने के लिए सबसे पहले देश भर की सरकारों ने जो कदम उठाये है उनमें से एक हवाई उड़ानों को पूरी तरह से बंद करना रहा है। Corona की वजह से पूरी दुनिया परेशान और लॉकडाउन की स्थिति में है। एविएशन सेक्टर संकट में है, क्योंकि जब तक कोरोना संकट खत्म नहीं हो जाता, सरकार हवाई उड़ानों को शुरू करने की स्थिति में नहीं है क्यूंकि इस महामारी से बचने का एक मात्र तरीका सोशल डिस्टेंसिंग है।फिलहाल 30 अप्रैल तक सभी तरह की उड़ानें रद्द है। अभी ऐसे में नुकसान का आंकड़ा लगाना आसान नहीं है क्योंकी ये स्थिति अभी बढ़ भी सकती है।

Coronavirus effect

3. ऑटो इंडस्ट्री:

पहले से ही मंदी की मार झेल रहा ऑटो सेक्टर इस बंदी से और ही बुरी स्थिति में है। इस बंदी से ऑटो सेक्टर को जबरदस्त नुकसान होगा। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) की तरफ से बताया गया है कि Coronavirus के कारण वाहनों का उत्पादन काफी प्रभावित होगा। सियाम की तरफ से बताया गया है कि वाहन मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के कारखानों के बंद होने के बाद हर रोज ऑटो सेक्टर को 2,300 करोड़ रुपये की आय का नुकसान होगा। Corona का मामला चीन में सामने आया, और जैसे ही इस महामारी का संक्रम फैलाना शुरू किया चीन के कारोबार पर इसका बहुत ही असर पड़ा। ऐसे में जबकि ऑटो सेक्टर का अधिकतर कच्चा माल चीन से आता है Coronavirus की वजह से बंद है।इसके अलावा लॉकडाउन की वजह से प्रोडक्शन से लेकर शोरूम तक बंद हैं। लॉकडाउन के कारण मार्च में वाहनों की बिक्री में बड़ी गिरावट देखने मिली है जो की आगे और बढ़ सकता है।

Coronavirus effect

4. रियल एस्टेट:

Coronavirus महामारी से काफी पहले ही नुकसान में चल रहे रियल एस्टेट सेक्टर को इस समय काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। पहले से बदहाल रियल एस्टेट सेक्टर को Corona ने तबाह कर दिया है। Coronavirus के लॉकडाउन के कारण हर तरह का कंस्ट्रक्शन बंद है साथ ही जो घर बनकर तैयार हैं उन्हें लेने वाला कोई नहीं है। हर महीने रियल एस्टेट सेक्टर को करोड़ों का नुकसान हो रहा है।इसके अलावा सभी तरह के मॉल्स-दुकानें-मूवीज बंद होने से रियल एस्टेट के लीजिंग मॉडल को सीधे काफी चोट पहुंच रही है। लोगों के घरों से ना निकलने की वजह से पहले ही मंदी से परेशान रियल एस्टेट को बड़ा नुकसान होने की आशंका है। जिसका असर काफी लम्बे समय तक देखने को मिल सकता है।

Coronavirus effect

5. टेक्सटाइल:

भारत में रोजगार देने में टेक्सटाइल इंडस्ट्री सबसे आगे है, गुजरात समेत देश के तमाम हिस्सों में Coronavirus की वजह से फैक्ट्रियों में ताला लटक गया है।कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते भारत से चीन को रूई और धागे का निर्यात ठप पड़ गया है और कपड़ा उद्योग में इस्तेमाल होने वाला रासायनिक पदार्थ व एसेसरीज आइटम का आयात नहीं हो रहा है, जिससे घरेलू कपड़ा उद्योग पर असर पड़ा है। आने वाले दिनों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी की संख्या इस सेक्टर में देखने को मिल सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here