Bengal Violence:बंगाल में भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं के साथ रेप की खबरें निकली झूठी कापड़ी बोले- मीडिया और BJP नेता पर केस करो

0
4
bengal violence

पश्चिम बंगाल में नतीजे आने के बाद बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच जगह-जगह राजनीतिक हिंसा शुरू हो गई है. बीजेपी का दावा है कि उसके 9 से ज्यादा कार्यकर्ता और समर्थक हमलों में मारे गए हैं जिनमें एक महिला भी शामिल है. बीजेपी इसका आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा रही है. इस बीच सोशल मीडिया पर ‘Shame’ ट्रेंड हो रहा है और बीजेपी व कई ट्विटर यूजर बंगाल की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए ममता सरकार को घेर रहे हैं. वहीं टीएमसी ने भी आरोप लगाया कि उसके भी कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है. लेकिन तमाम खबरों के बीच प्रशासन ने इन खबरों को पूर्ण रुप से फर्जी और असत्य बताया है कि पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं के साथ बलात्कार किया जा रहा है. एसएसपी ने कहा कि हम वैसे लोगों को चिन्हित कर रहे हैं जिन्होंने सोशल मीडिया पर इस तरही की फर्जी और झूठी खबरें फैलाई हैं, हम उन पर कानूनी कार्रवाई करेंगे. उधर फिल्म निर्माता विनोद कापड़ी ने भी बलात्कार की इन फर्जी खबरों पर कहा है कि सबसे पहले भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय और फिर गोदी मीडिया पर झूठ फैलाने के लिए कार्रवाई होनी चाहिए.

ये भी पढ़ें:- Bengal Result: नंदीग्राम में ममता को सुवेन्दु ने पछाड़ा वोटो में आगे चल रहे है, क्या होगा नंदीग्राम में बड़ा उलटफेर ?

दरअसल भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने मीडिया को बताया था कि प्रदेश में टीएमसी की जीत के बाद 700 गांवों में हिंसा हुई है. महिलाओं के साथ बलात्कार किया गया है. उन्होंने दावा किया है कि वीडियो बंगाल का है और टीएमसी के मुस्लिम गुंडे बीजेपी की महिला कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट कर रहे हैं. कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि भाजपा प्रत्याशी तारक साहा की पोलिंग एजेंट बनीं दो महिला कार्यकर्ताओं के साथ टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने सामूहिक बलात्कार किया गया है. बीरभूम के एसएसपी एएन त्रिपाठी ने साफ तौर पर कहा कि ये सब फर्जी खबरें हैं। इनमें जरा सी भी सच्चाई नहीं है. हमनें इन वीडियो और खबरों की जानकारी को सत्यापित करने की कोशिश की है. हमने इसके लिए स्थानीय भाजपा नेताओं से भी बात की है और सभी ने ऐसी किसी भी घटना से अनभिज्ञता जताई है. एसएसपी ने डंके की चोट पर कहा कि बलात्कार और सामूहिक बलात्कार जैसी सभी खबरें झूठी हैं.

ये भी पढ़ें:- शहाबुद्दीन दिल्ली में दफन, सिवान में दफनाना चाहते थे नहीं मिल इजाजत, बेटा ओसामा रहा मौजूद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here