देश भर में आज व्यापारी कर रहे भारत बंद, ट्रांसपोर्टर्स का चक्का जाम का ऐलान

0
85
bharat band

वस्तु एवं सेवा कर (GST) की खामियों को दूर करने, डीजल-पेट्रोल की कीमतें बढ़ने के खिलाफ 26 फरवरी को देश भर के व्यापारियों ने भारत बंद का ऐलान किया है. जीएसटी (GST) के खिलाफ आज कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने भारत बंद का आह्वान किया है. देश के सभी राज्यों में व्यापारिक संगठनों ने व्यापार बंद में शामिल होने का फैसला लिया है. दिल्ली में भी अधिकांश व्यापारिक संगठन बंद में शामिल होंगे. जीएसटी (GST) के नियमों में हाल ही में हुए संशोधनों और ई कॉमर्स कम्पनी अमेजन पर तुरंत प्रतिबन्ध लगाने की मांग को लेकर कैट भारत व्यापार बंद का आह्वान किया था. भारत बंद में करीब 8 करोड़ छोटे कारोबारी शामिल होंगे. साथ ही देश के करीब 1 करोड़ ट्रांसपोर्टर और लघु उद्योग और महिला उद्यमियों के भी इसें शामिल होने का दावा किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:- स्पिनर की दमदार गेंदबाजी में पहले ही दिन अंग्रेजों ने दिए घुटने टेक, अक्षर पटेल और रविचंद्रन अश्विन की शानदार गेंदबाजी

सड़क परिवहन क्षेत्र की सर्वोच्च संस्था ऑल इंडिया ट्रांसपोटर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने इसके समर्थन में सुबह 6 बजे से लेकर शाम 8 बजे तक चक्का जाम का ऐलान किया है. देशभर में कमर्शियल बाज़ार बंद रहेंगे क्योंकि 40,000 से अधिक व्यापारी संघ भारत बंद में हिस्सा ले रहे हैं. कैट (CAIT) के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि पिछले 4 साल में जीएसटी में 950 से ज्यादा संशोाधन हो चुके हैं. इसके अलावा जीएसटी (GST) पोर्टल से जुड़ी तकनीकी दिक्कतें बनी हुई हैं. इससे जीएसटी (GST) के अनुपालन का व्यापारियों पर बोझ बढ़ा है. होलसेल एवं रिटेल बाजार पूरी तरह से बंद रहेंगे. लेकिन आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाली दुकानों को बंद में शामिल नहीं किया गया है. रिहायशी कॉलोनियों में लोगों की जरूरतों को पूरा करने वाली दुकानें भी बंद से बाहर रहेंगी.

ये भी पढ़ें:- दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम ‘नरेंद्र मोदी स्टेडियम’ का अहमदाबाद में उद्घाटन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here