Corona Vaccination का अभियान 13 जनवरी से शुरू हो सकता है, सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स को लगेगा टीका

0
57
covid vaccination

कोविड के खिलाफ जारी जंग में अब सबकी उम्मीदें सिर्फ वैक्सीन (Corona Vaccination) पर टिकी है. देश में दो वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिलना नए साल की सबसे बड़ी और राहत की खबर है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि 13 जनवरी से देश में बड़े पैमाने पर कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ टीकाकरण (Corona Vaccination) की तैयारी की जा रही है. मकर संक्रांति से पहले देश में वैक्सीन (Corona Vaccination) क्रांति की शुरुआत कैसे हो सकती है. ये जानकारी स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी है. भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल द्वारा रविवार को दो वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल को मंजूरी दिए जाने की घोषणा की गई. इनमें से एक है सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका का कोविशील्ड और भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सीन.

ये भी पढ़ें:- कोविड के बाद देश में Bird Flu वायरस का डबल अटैक

सबसे पहले टीकाकरण (Corona Vaccination) एक करोड़ हेल्थकेयर वर्कर्स, दो करोड़ फ्रंटलाइन और एसेंशियल वर्कर्स और 27 करोड़ उन बुजुर्गो को दिया जाएगा, जिनकी उम्र 50 साल से अधिक है और जो कई बीमारियों से घिरे हैं. यह वैक्सीन की उपलब्धता पर निर्भर करेगा और भारत सरकार ने इसके लिए प्रायोरिटी ग्रुप्स बना रखे हैं, जिन्हें रिस्क फैक्टर को देखते हुए कोविड वैक्सीन लगाई जाएंगी. कोविड-19 का वैक्सीन (Corona Vaccination) स्वैच्छिक यानी वॉलेंट्री है. कोविड वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) के लिए बेनिफिशरी यानी लाभार्थी को रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है. रजिस्ट्रेशन के बाद ही लाभार्थी को साइट पर जाने और वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) के सही समय के बारे में जानकारी मिलेगी. शनिवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने घोषणा की थी कि एक करोड़ स्वास्थ्य सेवा कर्मियों साथ-साथ दो करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन (Corona Vaccination) मुफ्त में मिलेगी.

ये भी पढ़ें:- अडानी ने हटाया विज्ञापन, सौरव गांगुली को हार्ट-अटैक के बाद फॉर्च्‍यून कंपनी ने रोके गांगुली के ‘सेहतमंद तेल’ वाले विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here