Coronavirus : सरकार ने लॉन्च किया Arogya Setu App,कोरोना के संक्रमण से बचाने में मदद करेगा

0
41
Arogya Setu App For Coronavirus

भारत और दुनिया भर में कोरोनोवायरस के मामलों की बढ़ती संख्या लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण चिंता का विषय बन गई है। सभी राज्यों में सरकारें संकट से लड़ने के लिए जो भी संभव हो प्रयास कर रही हैं। ऐसे में देश पहले से ही लॉकडाउन के तहत है और आपातकालीन हेल्पलाइन को सक्रिय कर दिया गया है, केंद्र और राज्य सरकारों ने नागरिकों को वर्तमान परिदृश्य से अवगत कराने और coronavirus के प्रसार को ट्रैक करने के लिए मोबाइल एप्लिकेशन भी विकसित किए हैं।

Arogya Setu App For Coronavirus

भारत सरकार ने गुरुवार को आधिकारिक तौर coronavirus के संक्रमण के जोखिम का आंकलन करने वाला COVID-19 ट्रैकिंग ऐप, Aarogya Setu को एंड्रॉइड और iOS उपयोगकर्ताओं दोनों के लिए लॉन्च किया। ऐप को राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा विकसित किया गया है। एप्लिकेशन का उद्देश्य COVID -19 संक्रमण के प्रसार के जोखिम का आकलन करने और आवश्यक होने पर नागरिकों के एकांतवास सुनिश्चित करने के लिए समय पर कदम उठाने में मदद करेगा।

Arogya Setu App For Coronavirus

यह 11 भाषाओं में उपलब्ध है और राष्ट्रीय स्तर पर पहले दिन से उपयोग के लिए तैयार है। Aarogya Setu App यूज़र्स को यह जानने में मदद करेगा कि उसे कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा है या नहीं। यह एप लोगों को वायरस से संक्रमित व्यक्ति के नजदीक जाने पर सतर्क करेगा। क्या वह जाने-अनजाने में किसी कोरोना वायरस संक्रमित इंसान के संपर्क में आकर संक्रमित हुआ है या नहीं। इसके ज़रिए लोग अपने आसपास कोरोना के मरीज़ों के बारे में भी जानकारी हासिल कर सकते हैं। सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन में यह भी कहा गया है कि ये ऐप यूजर्स की निजता को ध्यान में रखकर बनाया गया है।

Arogya Setu App For Coronavirus

coronavirus के लिए केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा और भी App विकसित किये गये है। इनमें से कई एप्लिकेशन Google Play Store पर उपलब्ध हैं और कुछ अन्य जल्द ही जारी किए जाएंगे। कुछ एप्लिकेशन आपको उन लक्षणों का स्वयं-निदान भी करने देते हैं जिनके लिए आपको एक छोटा सा सर्वेक्षण करने की आवश्यकता होती है। ये एप्लीकेशन सुनिश्चित करता है की आपके डिवाइस का सारा डेटा एन्क्रिप्टेड रूप में हो। कोड को देखते हुए, यह आपके डेटा को गुमनाम रूप में सर्वर पर भेजता है ताकि आप यह जांच सकें कि आप किसी संक्रमित व्यक्ति के पास हैं या नहीं।
ऐसा करने के लिए, एप्लिकेशन यह जांचने के लिए ब्लूटूथ पर निर्भर करेगा कि आप किसी संक्रमित व्यक्ति के छह फीट के भीतर हैं या नहीं। इसमें अति आधुनिक ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी, एल्गोरिदम और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग किआ गया है।

Arogya Setu App For Coronavirus

COVID-19 का मुकाबला करने के लिए लोगों को एकजुट करने के उद्देश्य से सार्वजनिक-निजी साझेदारी से विकसित ‘आरोग्यसेतु’ नाम का यह ऐप प्रत्येक भारतीय के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए डिजिटल इंडिया से जुड़ा है।
यह लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण पकड़ने के जोखिम का आकलन करने में सक्षम करेगा। यदि कोई व्यक्ति चिकित्सा परीक्षण के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित पाया जाता है तो संक्रमित व्यक्ति का मोबाइल नंबर स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बनाए गए रजिस्टर में शामिल होगा और एप पर भी इस सूचना को अपडेट किया जा जायेगा।इस एप से कोविड -19 संक्रमण के जोखिम का आकलन करने और आवश्यक होने पर संबंधित व्यक्ति अथवा क्षेत्र को दूसरे लोगों अलग करने (क्वारंटाइन ) करने के लिए सरकार को समय पर कदम उठाने में मदद मिलेगी।सरकार ने कहा कि एप में उपयोगकर्ताओं की जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी और प्राइवेसी का पूरा ख्याल रखा जाएगा।

Arogya Setu App For Coronavirus

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here