CBSE Board Exam: कैंसिल नहीं हुईं बोर्ड की परीक्षाएं, 10वीं-12वीं के 29 मेन एग्जाम होंगे

0
63
cbse

कोरोना वायरस के चलते 3 मई तक देश में लॉकडाउन किया गया है। लॉकडाउन के कारण CBSE बोर्ड की कई परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया था। इन परीक्षाओं की तिथियों को लेकर छात्रों को बेसब्री से इंतजार है।
अब लगातार बिगड़ती स्थ‍िति और हालातों को ध्यान में रखते हुए अभ‍िभावक और बोर्ड परीक्षार्थी एग्जाम और रिजल्ट को लेकर चिंता में हैं। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) के एग्जाम को लेकर स्टूडेंट्स और अभिभावकों के मन में काफी कंफ्यूजन बना हुआ है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 10वीं, 12वीं के रिजल्ट के साथ-साथ बोर्ड की बची परीक्षाओं को लेकर भी अहम जानकारी सामने आई है।

cbse

परीक्षाओं की नई तारीख के लिए चर्चा जारी है और 3 मई के बाद हालातो का जायजा लेने के बाद ही इसको लेकर घोषणा की जाएगी । CBSE ने कहा है कि 10वीं और 12वीं की शेष परीक्षाओं के आयोजन को लेकर उसके फैसले में कोई बदलाव नहीं किया गया है। CBSE ने एक बार फिर नोटिस जारी करके स्टूडेंट्स को ये साफ कर दिया है कि 10वीं और 12वीं बोर्ड की बची हुई परीक्षाएं लॉकडाउन खत्म होने के बाद हालातों का जायजा लेने के बाद आयोजित की जाएंगी।

cbse

हाल ही में मानव संसाधन विकास मंत्री ने भी ये जानकारी दी थी कि CBSE बोर्ड की परीक्षाएं सिर्फ मेन 29 सब्जेक्ट के लिए ही आयोजित की जाएंगी, जो प्रमोशन और उच्च शिक्षा के लिए एडमिशन के लिए जरूरी होती हैं। लॉकडाउन खत्म होने और स्थिति सामान्य होने के बाद ही CBSE मुख्य 29 विषयों के पेपरों का कार्यक्रम जारी करेगी। मंगलवार को श‍िक्षा मंत्रियों के साथ मानव संसाधन विकास मंत्री की बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भी सरकार को सुझाव दिया था कि अब बची हुई बोर्ड परीक्षाएं न कराई जाएं। छात्रों को नौवीं और 11वीं की तरह इवैल्यूवेशन के आधार पर अंक दिए जाएं। अभ‍िभावकों में इसको लेकर स्पष्टता नहीं थी कि बोर्ड आख‍िर क्या फैसला ले रहा है।

cbse

इसी दुव‍िधा को ध्यान में रखते हुए बुधवार को बोर्ड ने स्पष्ट किया कि अभी तक ऐसा कोई फैसला नहीं लिया गया है कि बोर्ड बची हुई परीक्षाएं नहीं कराएगा। CBSE ने यह भी कहा कि परीक्षा की सूचना 10 दिन पहले दी जाएगी। लॉकडाउन खत्म होने के बाद स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही पेपरों के आयोजन का फैसला लिया जाएगा। CBSE ने बुधवार को ट्वीट कर कहा- ”10वीं CBSE बोर्ड परीक्षाओं को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। यह फिर से दोहराया जाता है कि बोर्ड 10वीं और 12वीं कक्षा के 29 मुख्य विषयों की परीक्षा कराने के अपने उस फैसले पर कायम है जिसका उल्लेख उसने 1 अप्रैल 2020 को जारी सर्कुलर में भी किया था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here