उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का कोरोना और फिर दिल का दौरा पड़ने से निधन

0
45
rahat indori

हर-दिल-अजीज रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी अब हमारे बीच नहीं है. दिल का दौरा पड़ने की वजह से इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में कोरोना का इलाज करवा रहे राहत साहब का मंगलवार शाम निधन हो गया. श्री अरबिंदो अस्पताल ने उनके निधन की पुष्टि की है. समाचार एजेंसी ANI को अस्पताल के डॉक्टर विनोद भंडारी ने बताया, “राहत इंदौरी साहब अब नहीं रहे. उन्हें दो दिल के दौरे पड़े थे, पर हम उन्हें नहीं बचा सके. उन्हें कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद रविवार को अस्पताल लाया गया था. उन्हें 60 फीसदी निमोनिया भी था.

चाहने वालों के बीच ‘राहत साहब’ के नाम से लोकप्रिय राहत इंदौरी का यूं ‘जाना’ साहित्‍य जगत खासकर उर्दू शायरी की दुनिया के लिए बड़ी क्षति है. जिलाधिकारी मनीष सिंह ने बताया, “कोविड-19 से संक्रमित इंदौरी का अरबिंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (सैम्स) में इलाज के दौरान निधन हो गया. उन्होंने बताया कि इंदौरी हृदय रोग, किडनी रोग और मधुमेह सरीखी पुरानी बीमारियों से पहले से ही पीड़ित थे. इससे पहले 2008 में एक बार उन्हें मंच पर ही शेर सुनाते-सुनाते हार्ट अटैक आ गया था, लेकिन उस वक्त करोड़ों चाहने वालों की दुआओं का असर कहिए या फिर कुछ उन्होंने मौत को मात दे दी थी.

शायरी की दुनिया में कदम रखने से पहले, इंदौरी एक चित्रकार और उर्दू के प्रोफेसर थे. उन्होंने हिन्दी फिल्मों के लिये गीत भी लिखे थे और दुनिया भर के मंचों पर काव्य पाठ किया था. राहत ने कोरोना वायरस (Coronavirus) की चपेट में आने की जानकारी ट्विटर के जरिए दी थी. उन्होंने कहा था कि Covid-19 के शरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉज़िटिव आयी है. अरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं. दुआ कीजिये जल्द से जल्द इसबीमारी को हरा दूं. हालांकि लोगों की तमाम दुआओं के बावजूद राहत साहब का मंगलवार को इंतकाल हो गया.
मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहत साहब के निधन पर दुख जताते हुए इसे प्रदेश और देश की अपूरणीय क्षति बताया है.

ये भी पढ़ें:-  संगीतकार वाजिद खान का निधन, किडनी की बीमारी और एक हफ्ते से कोरोना से संक्रमित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here