Gautam Gambhir की Jan Rasoi में मिल रहा भरपेट खाना एक रुपये में, खाने के लिए लोगों की भारी भीड़

0
138
jan rasoi

देश की राजधानी दिल्ली में सांसद गौतम गंभीर ने अम्मा रसोई की तर्ज पर जिस ‘जन रसोई’ (jan rasoi)की घोषणा की थी, पूर्वी दिल्ली के गांधीनगर में उसकी शुरूआत हो गई है. पूर्व क्रिकेटर और पूर्वी दिल्ली सीट से बीजेपी (BJP) के सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) के फाउंडेशन गौतम गंभीर फाउंडेशन (Gautam Gambhir Foundation) द्वारा शुरू की गई जन रसोई (Jan Rasoi) का आज तीसरा दिन है. यहां गरीबों को एक रुपये में पौष्टिक भोजन दिया जाएगा. खाना परोसकर गौतम गंभीर ने इसका उद्घाटन ​किया. यहां लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं क्योंकि मात्र 1 रुपये में भरपेट स्वादिष्ट खाना खिलाया जा रहा है. यह कैंटीन 3,500 वर्ग फुट क्षेत्र में है जहां एक साथ 100 लोग भोजन कर सकेंगे. कोरोना को देखते हुए फिलहाल 50 से लोगों को ही अनुमति दी जा रही है. उन्होंने कहा कि शहर का गरीब से गरीब व्यक्ति पौष्टिक भोजन से वंचित ना रहे इसे ध्यान में रखते हुए जन रसोई की शुरू गई है.

ये भी पढ़ें:- मुफ्ती तय करेंगे फिर मुसलमान टीका लगवाएं या नहीं, Corona Vaccine में सूअर की चर्बी का के इस्तेमाल का शक

जन रसोई में कई बोर्ड लगे हुए हैं, जिन पर लिखा है कि बिना मास्क के अंदर आने की अनुमति नहीं है. वॉलेंटियर भी इस बात का पूरा ध्यान रखते हैं कि अंदर जा रहे लोग सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पूरी तरह से पालन करें. गौतम गंभीर फाउंडेशन द्वारा शुरू की गई ये जन रसोई पूर्वी दिल्ली के इलाके में है. जहां कपड़े का देश का सबसे बड़ा थोक का बाजार है. यहां बड़ी संख्या में मजदूर काम करते हैं. अब यहां मजदूर सिर्फ 1 रुपये में खाना रहे हैं. यहां खाने के स्वाद और पौष्टिकता का पूरा ध्यान रखा जा रहा है. सांसद गौतम गंभीर भी खुद खाने की क्वालिटी को चखकर चेक करने आते हैं. वे खुद पहली थाली खाते हैं और हमारी टीम भी वही खाना खाती है जो लोगों को खिलाया जा रहा है.भाजपा सांसद ने इस रसोई की आड़ से दिल्ली की आप सरकार पर निशाना साधा. कहा कि दूसरे राज्यों में सरकार द्वारा संचालित ऐसी कैंटीन हैं जो जरूरतमंदों को रियायती दर पर भोजन मुहैया कराती हैं लेकिन दिल्ली में कभी इसकी पहल नहीं हुई. सांसद ने कहा कि उनका सपना है कि दिल्ली में प्रत्येक व्यक्ति को पौष्टिक भोजन और स्वच्छ पानी मिले. इसके लिए उनके प्रयास जारी रहेंगे.

ये भी पढ़ें:- केंद्र की बड़ी घोषणा, 2 साल में देश होगा ‘टोल नाका मुक्‍त’, जानें कैसे वसूली करेगी सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here