Farmers Protest: UP सरकार का सख्त एक्शन, पुलिस ने आंदोलनकारी किसानों के खिलाफ बॉर्डर खाली कराने के दिए निर्देश

0
73
rakesh tikait

तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद कराने की मांग को लेकर जमा किसानों को हटाने की कोशिशें तेज हो गई हैं. गणतंत्र दिवस के मौके पर देश की राजधानी में की गई हिंसा के बाद केंद्र सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है. कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के लिए डटे किसानों से विरोध प्रदर्शन खत्‍म करने और रास्‍ता खाली करने को कहा गया. गाजियाबाद प्रशासन की योजना गुरुवार रात तक रास्‍ते को खाली करने की है. गणतंत्र दिवस के दिन किसानों का ट्रैक्टर मार्च बेकाबू हो गया था, जिसके बाद आईटीओ, लालकिला और नांगलोई समेत दिल्ली के कई इलाकों में जमकर बवाल मचा.

ये भी पढ़ें:- शरद पवार का राज्यपाल पर निशाना, बोले- गवर्नर के पास कंगना रनौत से मिलने का वक्त, पर किसानों के लिए फुरसत नहीं

यूपी के एडीजी (कानून-व्यवस्था), प्रशांत कुमार ने कहा कि 26 जनवरी को दिल्ली में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद कुछ किसान संगठनों ने स्वेच्छा से चिल्ला बॉर्डर,दलित प्रेरणा स्थल से आंदोलन वापस ले लिया. बागपत में लोगों को समझाने के बाद उन्होंने रात में धरना खत्म कर दिया.यूपी गेट पर अभी कुछ लोग हैं, उनकी संख्या काफी कम हुई है. गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस बल बढ़ा दिया गया है. बॉर्डर पर पुलिस फ्लैग मार्च कर रही है. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार एनसीआर (NCR) समेत अलग-अलग जिलों में चल रहे किसानों के धरने को खत्म कराएगी. योगी सरकार ने धरना प्रदर्शन कर रहे किसानों को जिलों के बॉर्डर से हटाया जाएगा. न मानने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी. इसे लेकर सभी जिलाधिकारी व पुलिस कप्तानों को सख्त निर्देश जारी कर दिए गए हैं. गृह विभाग की तरफ से सभी अधिकारियों को इसके निर्देश दे दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें:- शादी के बंधन में बंधे वरुण धवन और नताशा दलाल, तस्वीरें हुई वायरल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here