IND vs AUS: Coronavirus के खतरे के बावजूद Sydney में ही होगा तीसरा टेस्ट, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने किया कंफर्म

0
124

Coronavirus के खतरे के बीच चल रही अटकलों को विराम लग गया है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) ने भारत (India) के खिलाफ तीसरे क्रिकेट टेस्ट का आयोजन सिडनी में ही कराने का फैसला किया है. कोविड-19 के कारण सीमा पर कड़ी पाबंदियों के कारण ब्रिसबेन में चौथे टेस्ट के लिए खिलाड़ियों की आवाजाही में मुश्किलों के कारण तीसरा टेस्ट मेलबर्न में होने की अटकलों की पुस्टि हो गयी है. क्रिसमस से पहले सिडनी (Sydney) के उत्तरी तटों पर कोविड-19 (COVID-19) के मामलों में इजाफे के बाद मेलबर्न को तीसरे टेस्ट के स्थल के रूप में स्टैंडबाई पर रखा गया था. तीसरे टेस्ट का आयोजन 7 जनवरी से होना है. मेलबर्न में दूसरा टेस्ट 8 विकेट से जीतकर भारत ने सीरीज में 1-1 से बराबर कर ली है. सिडनी क्रिकेट मैदान पर ‘गुलाबी टेस्ट’ पारंपरा बन गया है और पिछले साल अपने 12वें साल में इसके जरिए मैकग्रा फाउंडेशन के लिए 12 लाख आस्ट्रेलियाई डॉलर जुटाए गए.

ये भी पढ़ें:- Dunzo App के सर्वे में खुलासा, Lockdown में सड़कों पर लगा पहरा तो बढ़ गई Condom की बिक्री

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अंतरिम सीईओ निक हॉकले के हवाले से ‘क्रिकेट.कॉम.एयू’ ने कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी के बीच कई चुनौतियों के बावजूद मुझे यह बताते हुए खुशी है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अंतरराष्ट्रीय सीरीज का आयोजन पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कराने की राह पर है.’’ चौथा और आखिरी टेस्ट क्वीन्सलैंड के ब्रिसबेन में खेला जाना है जिसने सिडनी से आने वालों के लिए सीमा पर कड़ी पाबंदियां लागू की हैं. हॉकले ने कहा, ‘‘सिडनी में जन स्वास्थ्य की स्थिति के आकलन को लेकर पिछले हफ्ते हमने नियमित रूप से बैठकें की और देश भर में सीमा पर पाबंदियों को लेकर इसके असर पर चर्चा की.’’ अंत में, हमने फैसला किया है कि नए साल का टेस्ट सिडनी क्रिकेट मैदान पर ही होगा जिसका हाल में गुलाबी टेस्ट के आयोजन और खेल के तीसरे दिन जेन मैकग्रा दिवस मनाने का शानदार इतिहास रहा है.उन्होंने कहा, ‘हम खिलाड़ियों, अधिकारियों, स्टाफ और पूरे समुदाय की सुरक्षा को शीर्ष प्राथमिकता पर रखते हुए श्रृंखला का आयोजन पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कराने के लिए हमारे साथ काम करने की इच्छा के लिए क्वीन्सलैंड सरकार के आभारी हैं.’

ये भी पढ़ें:- बच्चे की देखभाल करते हुए बनीं फ्लाइंग अफ़सर, पति की मौत के बाद सेना में जाने का संकल्प लिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here