Indian Railways: लॉकडाउन के बाद रेल में सफर से पहले यात्री को कई मानकों का पालन करना होगा

0
78
indian railway

Coronavirus के चलते लागू लॉकडाउन अगर 3 मई के बाद खुला तो ट्रेनों का संचालन भी शुरू हो सकता है। अभी यह साफ नहीं है, लेकिन Indian Railway ने Lockdown के बाद की अपनी रणनीति पर मंथन शुरू कर दिया है। जिससे दूसरे शहरों में फंसे लोग अपने शहर वापस अपनों के पास जा सकेंगे। लेकिन लॉकडाउन के बाद रेल का सफर करना अब इतना आसान नही रहेगा। रेल में सफर से पहले यात्री को कई मानकों का पालन करना होगा।
प्लानिंग यह है कि यदि Lockdown खुलने के बाद Trains चलाई जाती हैं तो क्या व्यवस्था रखी जाए कि यात्रियों को असुविधा भी न हो और कोरोना वायरस से उनका बवाच भी हो सके।

indian railway

Indian railway तमाम मानकों को लागू करने पर विचार कर रहा है। इस बात पर विचार हो रहा है कि जब तक Coronavirus काबू नहीं हो जाता, ट्रेनों में खाना ने बांटा जाए, सिर्फ पानी ही सर्व किया जाए। लॉकडाउन समाप्त होने के बाद शताब्दी एक्सप्रेस, गतिमान एक्सप्रेस और तेजस एक्सप्रेस के साथ राजधानी जैसी प्रीमियम ट्रेनों में सफर के दौरान यात्रियों को खाना अपने साथ लाना पड़ सकता है। इस दौरान शताब्दी और तेजस जैसी ट्रेनों में शारीरिक दूरी का पालन एयरलाइन्स की तर्ज पर होगा। एक चेयरकार की सीट के पीछे दूसरे यात्री को बैठाया जाएगा।

indian railway

बुधवार को Indian railway बोर्ड में लॉकडाउन के बाद कुछ चुनिंदा रूटों पर ही सीमित संख्या में ट्रेनों को चलाने की गाइड बनाने पर मंथन किया गया। जानकारी के मुताबिक जनरल और स्लीपर क्लास की ट्रेनों की बोगियों में तो शारीरिक दूरी के लिए वेटिंग लिस्ट और मिडिल कंफर्म सीटों को हटाने की बात भी चल रही है। हालांकि अभी इसको लेकर कोई औपचारिक दिशा निर्देश जोनल मुख्यालयों को जारी नहीं हुए हैं। लॉक-डाउन खत्म होने के बाद Indian railway के सामने ट्रेनों के संचालन को लेकर खासी समस्यां पैदा कर दी है। अब Indian railway बोर्ड के सामने एक बड़ा सवाल यह है कि ट्रेनों के शुरू होने पर किस तरह ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों को कोरोना के संक्रमण से बचाव हो सकेंगे।

indian railway

Indian railway बोर्ड ने जोनल व मंडल के आला-अधिकारियों से मिले सुझाव को लेकर मंथन करना शुरू कर दिया है। इसमें जहां लॉकडाउन के बाद कुछ चुनिंदा रूटों पर ही सीमित संख्या में ट्रेनों चलाने के साथ ट्रेन में सतर्कता के तहत कुछ चुनिंदा ट्रेनों में पीने के लिए यात्रियों को सादा पानी व खाना न देने पर फिलहाल विचार चल रहा है।
अभी इसको लेकर कोई फाइनल निर्णय भी नहीं हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here