कृषि विपणन बिल का विरोध कर रहे किसानों को कंगना रनौत ने कहा ‘आतंकवादी, विरोध करने वालों की CAA से की तुलना

0
159
kangana

कंगना रनौत एक बार फिर से खबरों में हैं. इस बार न तो सुशांत की वजह से और न ही महाराष्ट्र सरकार के साथ पंगों की वजह से चर्चा में हैं. इस बार कंगना किसानों पर दिए अपने बयान को लेकर खबरों में छाई हैं. कंगना रणौत बॉलीवुड की उन अभिनेत्रियों में से हैं जो हर मुद्दे पर अपनी राय देने के लिए जानी जाती हैं. वह कई मुद्दों पर केंद्र और भाजपा सरकार के फैसलों पर भी अपनी राय रखती रहती हैं. अब कंगना रणौत ने सरकार के कृषि विधेयकों का समर्थन किया है.
कृषि विधेयकों का समर्थन करते हुए कंगना रणौत ने मोदी सरकार की तारीफ की है. साथ ही इन विधेयकों का विरोध करने वाले विपक्ष की आलोचना की है. कंगना रणौत ने विधेयक का विरोध करने वाले विपक्ष को दुखी लोग बताया है.

दरअसल कंगना ने इस बार रविवार को राज्य सभा में पास हुए कृषि से जुड़े विधेयक को लेकर कुछ ट्वीट किया है और इसे लेकर ही इस वक्त चर्चा में हैं. कृषि विधेयक के खिलाफ पूरे पंजाब में किसानों ने प्रदर्शन किया. पीएम मोदी के ट्वी को कोट करके हुए कंगना ने लिखा, ‘प्रधानमंत्री जी कोई सो रहा हो उसे जगाया जा सकता है, जिसे ग़लतफ़हमी हो उसे समझाया जा सकता है मगर जो सोने की ऐक्टिंग करे, नासमझने की ऐक्टिंग करे उसे आपके समझाने से क्या फर्क पड़ेगा? ये वही आतंकी हैं CAA से एक भी इंसान की सिटिज़ेन्शिप नहीं गई मगर इन्होंने ख़ून की नदियां बहा दी.’
कंगना का यह ट्वीट कई लोगों को पसंद नहीं आया। यूजर्स उनसे सवाल करने लगे कि क्या उन्होंने नाराज किसानों की तुलना आतंकियों से की है? अब कंगना ने यूजर्स के इन्हीं बातों का जवाब देते हुए एक अन्य ट्वीट किया है,
जिसमें उन्होंने लिखा है, ‘जैसे श्री कृष्ण की नारायणी सेना थी, वैसे ही पप्पू की भी अपनी एक चंपू सेना है जो की सिर्फ अफ़वाहों के दम पे लड़ना जानती है, यह है मेरा अरिजिनल ट्वीट, अगर कोई यह सिद्ध करदे की मैंने किसानों को आतंकी कहा, मैं माफी मांगकर हमेशा के लिए ट्विटर छोड़ दूंगी.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here