सड़क किनारे हुआ प्रसव, बच्चे को जन्मा और 1 घंटे बाद गोद में लेकर 160KM पैदल चली महिला मजदूर

0
135
migrant

जिस वक्त सारा देश मदर्स डे मना रहा था और सोशल मीडिया पर तस्वीरें अपलोड कर मां के प्रति प्यार और सम्मान जाहिर कर रहा था। ठीक दूसरी ओर हकीकत में एक मां अपना फर्ज अदा कर रही थी। सरकारी प्रयासों के बावजूद दूसरे राज्यों में फंसे मजदूर हजारों किलोमीटर का सफर पैदल ही तय कर रहे हैं। मजदूरों की कहानी सुन रोंगटे खड़े हो जा रहे हैं। इन्हीं में से एक मामला सुन पुलिसकर्मी भी भौचक रह गए।एमपी-महाराष्ट्र के बिजासन बॉर्डर पर नवजात बच्चे के साथ पहुंची महिला मजदूर की दास्तान जब पता चली तो दांतों तले उंगलियां आ गईं। बच्चे के जन्म के 1 घंटे बाद ही उसे गोद में लेकर महिला 160 किलोमीटर तक पैदल चल बिजासन बॉर्डर पर पहुंची।यह भयावह कहानी है शकुंतला कि जो अपने पति के साथ नासिक में रहती थी। गर्भावस्था के नौवें महीने में वह अपने पति के साथ नासिक से सतना के लिए पैदल निकली। नासिक से सतना की दूरी करीब 1 हजार किलोमीटर है। उसने बिजासन बॉर्डर से 150 किलोमीटर पहले 5 मई को सड़क किनारे ही बच्चे को जन्म दिया।

ये भी पढ़ें:- बेबसी की तस्वीर: चप्पलें घिस गईं, भगदड़ में छूटे जूते-चप्पल, प्लास्टिक की बोतलें पैरों में बांधकर घर की ओर चलने को मजबूर हुए मजदूर

दरअसल, शकुंतला शनिवार को बिजासन बॉर्डर पर पहुंची। उसकी गोद में नवजात बच्चे को देख चेक-पोस्ट की इंचार्ज कविता कनेश उसके पास जांच के लिए पहुंची। उन्हें लगा कि महिला को मदद की जरूरत है। उसके बाद उससे बात की, तो कहने को कुछ शब्द नहीं थे। परिवार सतना जिले के ऊंचाहारा गांव जाने के लिए निकला था। इनके साथ इनकी एक दो साल की बेटी भी है। महिला 70 किलोमीटर चलने के बाद रास्ते में मुंबई-आगरा हाइवे पर बच्चे को जन्म दिया था। पिंपलगांव के पास पत्नी को प्रसव पीड़ा होने लगी और बच्चे का जन्म हुआ इसमें साथ की 4 महिलाओं ने उसकी मदद भी की थी। बच्चे को जन्म देने के बाद एक घंटे सड़क किनारे ही रुकी रही और फिर पैदल चलने लगी। बिजासन बॉर्डर तक पहुंचने के लिए वह 160 किलोमीटर पैदल चली। शकुंतला के पति राकेश नासिक में नौकरी करते थे, लेकिन उनकी नौकरी चली गई। खाने-कमाने का कोई जरिया न होने के कारण वह गर्भवती पत्नी को लेकर पैदल ही निकल पड़े। उनका कहना था कि रास्ते में कुछ लोगों ने मदद भी की। एक सिख परिवार ने नवजात बच्चे के लिए कपड़े और जरूरी सामान दिए।

ये भी पढ़ें:- 12 मई से चलेंगी कुछ यात्री ट्रेनें,इन शहरों के लिए आज शाम 4 बजे से IRCTC पर होगी बुकिंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here