बच्चे की देखभाल करते हुए बनीं फ्लाइंग अफ़सर, पति की मौत के बाद सेना में जाने का संकल्प लिया

0
122

हौसलों के आगे तमाम मुश्किलें पीछे छूट जाती है इसकी एक और मिसाल पेश की है जम्मू की रहने वाली राधा चाराक ने.
28 साल की राधा तमाम मुश्किलों से जूझते हुए फ्लाइंग अफ़सर बनी हैं. राधा की शादी जम्मू के ही बूटा सिंह मन्हास से हुई. उन्हें एक बेटा है. वह एयरफोर्स में नॉन कमीशंड अफ़सर सीपीएल थे. लेकिन, शादी के कुछ साल बाद हर्ट अटैक से उनके पति की मौत हो गई. पति की मौत के बाद सब इंस्पेक्टर के लिए राधा को टेस्ट देना था, लेकिन वह बिना टेस्ट दिए वापस लौट आईं. उन्होंने तय किया कि जिस ब्लू यूनिफॉर्म को उनके पति छोड़ गए हैं, उसे वही पहननी है. राधा एलएलबी की हुई हैं और हाईकोर्ट में प्रैक्टिस करती थीं.

ये भी पढ़ें:- Gautam Gambhir की Jan Rasoi में मिल रहा भरपेट खाना एक रुपये में, खाने के लिए लोगों की भारी भीड़

उन्होंने एयरफोर्स कॉमन एंट्रेंस टेस्ट के लिए अप्लाई किया. इसके बाद तैयारी के लिए दिल्ली चली गईं. पहली बार में वह स्क्रिनिंग से बाहर हुईं. 2018 में फिर टेस्ट दीं और इस बार उन्हें बेहतर सफलता मिली. इससे उनका उत्साह बढ़ गया. वह दिन में कोर्ट में प्रैक्टिस करती और रात में पढ़ाई करती. 2019 में वह एसएसबी में सिलेक्ट हो गईं और 2020 में ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद एयरफोर्स एकेडमी पहुंच गईं. 18 दिसंबर को उनकी ट्रेनिंग पूरी हुई है. अब वह फ्लाइंग अफ़सर हो गई हैं. उनकी पहली पोस्टिंग चंडीगढ़ में हुई है. राधा के पिता भी सूबेदार टीएस चाराक कहते हैं उन्हें अपनी बेटी पर नाज है. बेटी का नाम लेकर उनका सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है. उन्हें उम्मीद है कि राधा एयरफोर्स में भी अपने काम से देश का नाम ऊंचा करेंगी.

ये भी पढ़ें:- मुफ्ती तय करेंगे फिर मुसलमान टीका लगवाएं या नहीं, Corona Vaccine में सूअर की चर्बी का के इस्तेमाल का शक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here