क्या आप जानते हैं क्यों Shashi Kapoor को ‘टैक्सी’ बुलाते थे प्यार से उनके भाई Raj Kapoor

0
139

शश‍ि कपूर गुजरे जमाने के दिग्गज अभ‍िनेता थे। एक्टर शश‍ि कपूर एक जमाने में लोगों के दिलों पर राज किया करते थे। फिल्म इंडस्ट्री में शशि कपूर (Shashi Kapoor) ने अपने अभिनय और अंदाज से लोगों को दीवाना बना दिया था।
उन्होंने 1945 में एक्ट‍िंग डेब्यू किया था। साल 1961 में ‘धर्मपुत्र’ से बॉलीवुड में एंट्री करने वाले शशि कपूर (Shashi Kapoor) 70 और 80 के दशक में एक बड़े अभिनेता बनकर उभरे थे। राजेश खन्ना का जादू जहां 70 के दशक में सब पर सिर चढ़कर बोल रहा था तो उसी के साथ लोगों के दिलों में इस चार्मिंग और हैंडसम एक्टर के लिए भी बेशुमार मोहब्बत थी। लेकिन इस महान एक्टर को राज कपूर (Raj Kapoor) टैक्सी कहकर पुकारा करते थे। कुछ समय तक चाइल्ड आर्ट‍िस्ट के रूप में काम करने के बाद उनके पास कम उम्र में भी फिल्म के ढेरों ऑफर्स आने लगे।  जिस कारण वे अपना आधा वक्त फिल्मों की शूट‍िंग में ही गुजारते थे। उनकी इसी व्यस्तता के कारण उनके भाई राज कपूर उन्हें टैक्सी बुलाते थे।

ये भी पढ़ें:- अमिताभ के शो KBC सीजन 12 के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, जानिए कैसे करें अप्लाई

असीम छाबरा द्वारा शशि कपूर पर लिखी गई बायोग्राफी में इस बारे में पूरी कहानी है कि राज कपूर अपने भाई शशि कपूर को टैक्सी कह कर क्यों बुलाते थे। राज कपूर हमेशा मस्ती मजाक में शशि को टैक्सी कहते थे, क्योंकि शशि कपूर किसी को भी कभी भी अपनी कार में बिठा लेते थे। यही वजह थी कि राज कपूर कहते थे कि वह टैक्सी हैं। एक शो में शश‍ि कपूर के भतीजे और राज कपूर के बेटे एक्टर ऋष‍ि कपूर ने इस बात का खुलासा किया था। शो में ऋषि के अलावा अमिताभ बच्चन भी थे। अमिताभ कहते हैं- उस वक्त एक्टर्स के पास 2-3 फिल्में होती थी, लेकिन शश‍ि कपूर के पास कम से कम 25 फिल्में होती थी। जिसके कारण वे हर दो घंटे में किसी ना किसी जगह शॉट देते रहते थे। उनकी इस बात को सुनकर ऋष‍ि ने अपने चाचा का निकनेम का खुलासा किया था। ऋष‍ि ने कहा- ‘इसल‍िए पापा जी (राज कपूर) उन्हें (शश‍ि कपूर को) टैक्सी कह कर बुलाते थे।’ शशि कपूर एक दिन में चार से पांच शिफ्ट भी पूरी करते थे। ऐसा भी कई बार होता था कि शशि कपूर कार में ही सो जाया करते थे। उन दिनों उन्हें अपनी ऐसी लाइफस्टाइल के कारण, चूंकि कार ही उनके लिए सेमी पर्मानेंट एड्रेस बन चुका था। इसलिए राज कपूर ने उनका निकनेम ही टैक्सी कर दिया था।

ये भी पढ़ें:- आम नागरिक तीन साल के लिए आर्मी ज्वाइन कर सकेंगे, ‘टूअर ऑफ ड्यूटी’ के प्रस्ताव पर विचार कर रही है इंडियन आर्मी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here