स्वीडन में कुरान जलाने के बाद भड़के दंगों के बीच पोलैंड के सांसद बोले- एक भी मुस्लिम की एंट्री नहीं

0
105
sweden

स्वीडन में समुदाय विशेष के धार्मिक किताब जलाए जाने के कुछ ही घंटों बाद दक्षिणी स्वीडन का माल्मो शहर में दंगा भड़क उठा है. मजहबी नारों के बीच लोगों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए. इस दौरान सड़कों पर टायर जलाए गए. सैकड़ों लोग सड़कों पर उतर आए. इस घटना के विरोध में 300 से अधिक लोग जमा हो गए और दंगे शुरू कर दिए . घंटों स्वीडन के इस शहर पर दंगाइयों का कब्जा रहा. बताया जा रहा है कि शुक्रवार रात को स्वीडन में एक दक्षिणपंथी नेता को गिरफ्तार किए जाने के बाद उनके समर्थकों ने कुरान को जला दिया था. जिसके बाद सैकड़ों लोग दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं के खिलाफ सड़कों पर उतर आए. पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच टकराव के बाद मालम शहर में दंगे शुरू हो गए. गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर जमकर पथराव किया जिसे शांत करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े.

ये भी पढ़ें:-योगी सरकार ने गो हत्या के खिलाफ पास किया बेहद कड़ा कानून

स्वीडन में कुरान को लेकर भड़के दंगों के बीच पड़ोसी देश पोलैंड के सांसद का बयान चर्चा का विषय बना हुआ है. एक टीवी चैनल के साथ बातचीत में सांसद डोमिनिक टार्ज़ीस्की ने कहा कि पोलैंड इसलिए सुरक्षित है क्योंकि यहां मुस्लिम शरणार्थियों का प्रवेश प्रतिबंधित है. दुनियाभर के मुस्लिम देश पोलैंड पर इस्लामोफोबिक होने का आरोप लगाते रहे हैं. इस देश ने यूरोपीय यूनियन के आव्रजन नीति को भी खारिज करते हुए मुस्लिमों को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था. स्वीडन में विरोध प्रदर्शनों के दौरान प्रदर्शनकारियों ने गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया और दुकानों में तोड़फोड़ की. वहीं, दंगाइयों ने सड़कों पर जगह जगह आगजनी की. गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर जमकर पथराव किया जिसे शांत करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े. हिंसा में कई पुलिस अधिकारी घायल हो गए. पुलिस ने करीब 15 लोगों को हिरासत में लिया है.

ये भी पढ़ें:- न्यूजीलैंड की पीएम ने ऑकलैंड में राधा कृष्ण मंदिर का दौरा किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here