IPL 2020: पिता मजदूर, मां सड़क पर दुकान चलाती, बेटे के पास खेलने को गेंद नहीं थी, आज है हैदराबाद के यॉर्कर किंग

0
83
T-Natarajan

इंडियन प्रीमियर लीग के 12 साल के इतिहास में पहली बार यूएई की मेजबानी में खेले जा रहे 13वें सीजन में विदशी खिलाड़ियों से ज्यादा भारतीय खिलाड़ियों का बोलबाला नजर आ रहा है. आईपीएल 2020 में इस बार नए और युवा खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ियों पर भारी पड़ रहे हैं. ऐसे ही अपनी खूबसूरत यॉर्कर की वजह से क्रिकेट में अपनी खास पहचान बनाने वाले टी नटराजन (T Natarajan) भी काफी चर्चा में हैं. जब कोई शख्स गरीबी और बेबसी से निकलकर मेहनत और लगन से अपने सपनों को साकार करता है, तो उसका संघर्ष दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत होता है. थंगरासू नटराजन एक ऐसा ही नाम हैं. वो IPL में यार्कर किंग बनकर उभरे हैं.

ये भी पढ़ें:- विवाद पर गांगुली का जवाब, मैंने भारत के लिए करीब 500 मैच खेला, कोहली हो या अय्यर किसी भी खिलाड़ी को समझा सकता हूं

मंगलवार को दिल्ली कैपिटस के खिलाफ अपना पहला मैच जीतने वाली सनराइजर्स हैदराबाद के लिये भी इस सीजन एक ऐसे ही भारतीय गेंदबाज थंगरासू नटराजन का जलवा देखने को मिला. आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली कैपिटल्स की टीम हैदराबाद के युवा गेंदबाज टी नटराजन की यॉर्कर गेंदों के सामने पस्त नजर आई और रन न बना पाने के चलते 15 रनों से मैच हार गई. हालांकि अपनी यॉर्कर गेंदों से दुनिया भर के खिलाड़ियों का ध्यान अपनी ओर खींच पाने वाले गेंदबाज के लिये यहां तक का सफर आसान नहीं था.

ये भी पढ़ें:- US प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप कोरोना पॉजिटिव

नटराजन के बचपन से लेकर दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट लीग IPL तक के सफ़र पर नज़र डालें, तो उनका जीवन बेहद संघर्षपूर्ण रहा है. जिन्होंने न सिर्फ अपनी सफलता से परिवार की आर्थिक स्थिति को बेहतर किया. बल्कि डेथ ओवर स्पेशलिस्ट के तौर पर अपनी पहचान बनाई और दुनिया के सर्वश्रेष्ट बल्लेबाजों को आउट भी किया है. एक तरफ जहां इनके पिता साड़ी की फैक्ट्री में मजदूरी करते. वहीं मां सड़क किनारे दुकान लगाकर परिवार का पालन पोषण करती.
नटराजन का बचपन गरीबी और अभाव में बीता. नटराजन तमिलनाडु के सलेम जिला के गांव चिन्नप्पमपट्टी से आते हैं.
जहां से किसी के लिए जीवन में अपने सपनों को साकार करना बहुत ही मुश्किल था. बावजूद इसके नटराजन ने एक मुकाम हासिल किया.

ये भी पढ़ें:- Hathras Rape Case: हाथरस गैंगरेप पीड़ित परिवार को प्रियंका गांधी ने लगाया गले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here