अमेरिकी सांसद बोले- चीन में मौजूद उद्योगों को भारत शिफ्ट किया जाना चाहिए

0
182
us industry

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के बीच अमेरिका और चीन के रिश्तों में तनाव और भी बढ़ गयी है। चीन को लेकर अमेरिका का रवैया और तल्ख होता जा रहा है। अब अमेरिका के एक कांग्रेसमैन ने कहा है कि चीन में मौजूद उद्योगों को भारत शिफ्ट किया जाना चाहिए. ताकि दुनिया में चीन के अलावा भी एक विकल्प तैयार हो सके। अमेरिका चीन से विनिर्माण स्थानांतरित करने और वैकल्पिक वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला बनाने के लिए भारत और उसके अन्य विश्वसनीय सहयोगियों के साथ संपर्क में है।

अमेरिकी कांग्रेसमैन और विदेश मंत्रालय की उपसमिति के सदस्य टेड योहो ने कहा कि अमेरिका की पहली नीति यही है कि अपने जैसी मानसिकता वाले देशों को साथ रखो। अमेरिका एक प्लान बना रहा है कि कैसे चीन से अपने उद्योग निकालकर भारत में स्थापित किए जाएं। साथ ही जो उद्योग अमेरिका लौटना चाहते हैं वो वापस आ जाएं। टेड ने कहा कि हम चाहते हैं कि भारत जैसे अन्य सहयोगी देशों में भी हम अपना उद्योग स्थापित करें। इससे चीन का वर्चस्व खत्म होगा और हमें कई विकल्प मिल जाएंगे।

भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया कार्यक्रम चला रखा है। ऐसी हालत में अगर इंडस्ट्री चीन से उठकर भारत आती है तो उसे बड़ा निवेश मिलेगा। टेड ने बताया कि जब पूरी दुनिया को सबसे ज्यादा पीपीई (PPE) की जरूरत थी तब चीन ने अपने हाथ खड़े कर दिए थे। इससे पूरी दुनिया की सप्लाई रुक गई। टेड ने कहा कि दुनिया को चीन से संबंध तोड़ लेना चाहिए। क्योंकि चीन अपने लोगों की भलाई के लिए जो बातें कहता है वह न देश के अंदर लागू करता है, न ही बाकी देशों के साथ। अमेरिका चीन पर बेहद सख्त प्रतिबंध लगाने की तैयारी में है। ताकि उसे ताइवान, हॉन्ग कॉन्ग, साउथ चाइना सी और विश्व स्वास्थ्य संगठन को गलत रिपोर्ट देने की सजा मिल सके।

ये भी पढ़ें:- चीन के साथ तनाव के बीच भारत ने चीन सीमा के पास असम में तैनात किए चिनूक हेलिकॉप्टर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here