लॉकडाउन के बीच पैदल चलते-चलते थके बेटे को पहिए वाले ब्रीफ़केस पर सुलाकर खींच रही मजदूर मां

0
157

देशभर में प्रवासी मजदूरों का पलायन लागातार जारी है। लॉकडाउन के दौरान पैदल ही अपनेघरों को लिए निकल चुके कामगारों व श्रमिक परिवारों की कई मार्मिक तस्वीरें सामने आ रही हैं। देशभर में कोरोना संकट के बीच प्रवासी मजदूरों की दिल पसीजने वाली खबरें और तस्वीरें सामने आ रही हैं। कहीं प्रवासी मजदूर हादसे का शिकार हो रहे हैं तो कहीं कोसों पैदल चलने को मजबूर हैं। सोशल मीडिया पर इन दिनों प्रवासी मजदूरों को लेकर बेहद मार्मिक तस्वीरें और वीडियो शेयर किए जा रहे हैं। यूपी के आगरा जिले में भी ऐसी ही कुछ तस्वीर सामने आई है, जहां एक मां अपने मासूम बच्चे को ब्रीफ़केस पर लिटाकर पैदल झांसी की ओर चल रही है। एक प्रवासी मजदूर महिला अपने बच्चे को लेकर अपने गृह जनपद को निकल पड़ी और रास्ते में बच्चा थककर ट्रॉली बैग में लटककर सो गया।

ये भी पढ़ें:- लॉकडाउन में लाचारी : रास्ते में बनाई लकड़ी बाल बियरिंग की हाथ गाड़ी, गर्भवती बीवी और बेटी को 800 KM खींचकर लाया मजदूर

बताया जा रहा है कि प्रवासी मजदूर महिला पंजाब से वाया आगरा से होते हुए झांसी आ रही थी। वीडियो में प्रवासी मजदूर महिला ट्रॉली बैग को एक रस्सी से बांधकर खींचती नजर आ रही है जबकि उसका बच्चा थककर ट्रॉली बैग के ऊपर ही सो गया। उसकी मां उस ट्रॉली बैग को फिर भी खींचकर ले जा रही है। ताकि उसका बच्चे थके बी न और उनका सफर जल्द पूरा हो जाए। सूटकेस को सड़क पर घसीट रही महिला के लिए बेटे के सोने से वजन दोगुना हो गया। लेकिन इससे महिला की रफ्तार धीमी नहीं होती है। हालांकि, रास्ते में कई लोगों ने प्रवासी मजदूर महिला से कहा कि आपको पैदल नहीं जाना चाहिए। गौरतलब है कि प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए सूबे की योगी सरकार हजारों बसों का संचालन कर रही है। साथ ही ढाई सौ से ज्यादा ट्रेनों से मजदूर यूपी के अलग-अलग जिलों में पहुंच रहे हैं।
बावजूद इसके हर जिलों में सैकड़ों की संख्या में मजदूर व कामगार अपने बच्चों व महिलाओं संग पैदल चलते दिख रहे हैं।
कोरोना वायरस के चलते लागू देशव्यापी लॉकडाउन के बीच देश के अलग-अलग राज्यों में कुल 16 प्रवासी मजदूरों की सड़क हादसे में मौत हो गई है। पिछले 24 घंटों के अंदर ही उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और बिहार में दर्जनभर से ज्यादा मजदूरों की सड़क हादसे में मौत हो गई है।

ये भी पढ़ें:- सड़क पर ही दिया बच्चे को जन्म, नवजात को फिर कुछ देर बाद ही गोद में लेकर 160KM पैदल चली महिला मजदूर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here