बिहार सरकार सरकार रद्द कर सकती है आपका राशन कार्ड, जल्द करें यह जरूरी काम

0
58
rasan card

देश में कोरोना वायरस महामारी के दौरान जारी लॉकडाउन में गरीबों तक खाद्यान्न और दालें पहुंचाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें जी-तोड़ कोशिशें कर रही हैं। इसी बीच, खबर यह भी है कि केंद्र सरकार ने बीते दिनों पूरे देश में करीब 3 करोड़ राशन कार्डों को रद्द कर दिया है। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Central Government Minister Ramvilas Paswan) ने बताया है कि राशन कार्डों के डिजिटलीकरण और आधार सिडिंग के दौरान 3 करोड़ राशनकार्ड फर्जी (Ration Card Cancelled) पाए गए जिन्हें रद्द किया गया है। आपको बता दें कि सरकार ने लॉकडाउन की अवधि के दौरान गरीबों के लिए प्रधानमंत्री गरीब योजना (पीएमजीएवाई) के तहत जून तक तीन महीने के लिए प्रत्येक राशनकार्ड धारक को मुफ्त एक किलो दाल वितरित करने का फैसला किया है। सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि आधार और राशन कार्ड लिंकिंग जरूरी है। इसीलिए राशन कार्ड रद्द हुए हैं। इसके अलावा फर्जी राशन कार्ड भी बनाकर सरकार की स्कीम से मुफ्त में अनाज और अन्य सामान लिया जा रहा था। ये राशन कार्ड भी रद्द कर दिए गए हैं। अब ऐसे में बिहार सरकार द्वारा बार-बार कहने के बावजूद जिन लोगों ने अपने राशन कार्ड को आधार कार्ड से नहीं जोड़ा है उनका राशन कार्ड रद्द होगा। बिहार सरकार उक्त राशन कार्ड धारक को मृत या अपात्र मानकर व्यक्ति का राशन कार्ड रद्द करेगी।

ये भी पढ़ें:- सड़क किनारे हुआ प्रसव, बच्चे को जन्मा और 1 घंटे बाद गोद में लेकर 160KM पैदल चली महिला मजदूर

बिहार खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के अनुसार, राज्य में अबतक 14 लाख 69 हजार ऐसे कार्ड धारक हैं जिनका राशन कार्ड अभी तक आधार कार्ड से नहीं जुड़ा है। कार्ड धारक का बैंक खाता भी विभाग के पास नहीं है। हालांकि उनमें से जिन लोगों ने अपना डिटेल भेजा है उनका आधार लिकिंग की प्रक्रिया चल रही है। बता दें कि कोरोना वायरस फैलने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन सभी आवेदकों को राशन कार्ड जारी करने का आदेश दिया है जो पहले से लंबित है। बिहार सरकार को राशन कार्ड बनाने या संशोधन के लिए 49.33 लाख आवेदन मिले थे। जो कार्ड होल्डर सूचनाएं उपलब्ध करा रहे हैं उनके अनुमंडल में आधार कार्ड जोडने की प्रक्रिया चल रही है। साथ ही एनआईसी ने निजी पोर्टल भी बना दिया है। उस पोर्टल पर लाभार्थी खुद भी जाकर अपना आधार कार्ड सिंडिंग कर रहे हैं। अब विभाग ऐसे लाभुकों की जानकारी ले रहा है जो कई बार सूचना के बाद भी डिटेल उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं। उनका राशन कार्ड विभाग रद्द कर देगा। सरकार के पास नया राशन कार्ड बनाने या संशोधन के लिए 49.33 लाख आवेदन मिल थे। राज्य सरकार ने पहले से लंबित राशन कार्ड को उनके कार्ड धारकों को जल्द से जल्द बांटने का निर्देश दिया है। बिहार खाद्य विभाग इस दिशा में युद्धस्तर पर कार्य कर रही है। आवेदन काफी दिनों से लंबित हैं लिहाजा इनका राशन कार्ड निर्गत होने के बाद भी आधार कार्ड से जोड़ना एक बड़ी चुनौती है।

ये भी पढ़ें:- PoK पर भारत की कार्रवाई से खौफ में पाकिस्तान, PoK की घर वापसी का भारत ने प्लान किया तैयार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here